Hima Das Biography in Hindi

हिमा दास के बारे मे (Hima Das Biography and Information in Hindi)

Hima Das Biography in Hindi तथा Awards and Achievments के बारे में विस्तार से जानेंगे !

हेलो दोस्तों –

मेरे ब्लॉग पर आप सभी लोगो का स्वागत है! दोस्तों आज हम बात करने जा रहे है. एक ऐसे एथलिट के बारे में जिसने 15 दिनों में 4 गोल्ड मेडल जीती है! वह कोई और नही भारत की रहने वाली Hima das ( हिमा दास ) है!

Hima das ने अपने मेहनत के दम पर भारत का नाम रोशन किया है ! चलिए आज के इस आर्टिकल हम Hima das Biography in hindi, Record तथा Awards and Achievments के बारे में विस्तार से जानेंगे !

Who is Hima Das ( हिमा दास कौन है)

Hima das भारतीय एथलिट चैंपियन है! वह भारत के एक छोटे से गॉव से बिलोंग करती है! उन्होंने अपने मेहनत के दम पर कर दिखाया की. ” मेहनत करने वालो की कभी भी हार नही होती है “ उन्होंने 15 दिनों में 4 गोल्ड मेडल जीती है. जैसे – की Hima das ने 400 मीटर की दौड़ स्पर्धा में 51.46 सेकेंड का समय निकालकर स्वर्ण पदक जीता ! 2019 में उन्होंने 15 दिन में 4 gold medal जीतकर भारत का नाम पूरे देश में रोशन कर दिया !

हिमा दास जीवन परिचय (Hima das Biography and Information in Hindi)

Bio

  • पूरा नाम (Name):- हिमा दास
  • उपनाम (Nickname):- हिमा , गोल्डन गर्ल
  • कार्य (Profession):- एथलिट
  • जन्म तारिक (Date of birth):- 9 जनवरी 2000
  • जन्म स्थान ( birth place ):- धिंग , आसाम
  • उम्र (Age):- 18 years
  • राशि (zodiac sign):- मगर राशि
  • नागरिकता (Nationality ):- इंडियन
  • धर्म (Religion):- हिन्दू
  • हॉबी (Hobbies):- फुटबॉल , संगीत , वाचिंग मूवी
  • मैरिटल स्टेटस (Marital status ):- अविवाहित , unmarried

सोशल अकाउंट

हिमा दास इंट्रो (Hima Das Intro)

भारतीय रेसर “हिमा दास” ने फिनलैंड देश की धरती पर नया इतिहास रच दिया है! और आईएएएफ वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स चैम्पियनशिप 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी है !

असम राज्य से किसान परिवार से आने वाली Hima ने साल 2017 में अपने कोच से दौड़ने की training लेना start किया था ! और बहुत ही कम समय में इन्होंने रेस में महारत हासिल कर ली.

भारत एथलेटिक्स इतिहास की स्वर्ण परी बनीं हिमा

एथलेटिक्स में आने के बाद हिमा दास को सबसे पहले अपना परिवार छोड़कर करीब 140 किलोमीटर दूर आकर बसना पड़ा ! शुरुआत में उनके परिजन इसके लिए राजी नहीं थे,लेकिन कोच निपोन ने काफी जिद करके हिमा के परिजनों को मनाया ! फिर शुरू हुआ हिमा की कामयाबी का सफर !

हिमा दास गोल्ड मेडल जीतने के बाद indian एथलीट्स के साथ एलीट क्लब में शामिल हो चुकी हैं! सीमा पुनिया, नवजीत कौर ढिल्लों और नीरज चोपड़ा की तरह वह एक ऐसी शख्सियत बनकर उभरी हैं, जिन्हें उनकी कामयाबी ने रातों रात लोकप्रियता के शिखर पर पहुंचा दिया है !

उनके कोच निपोन दास को पूरा विश्वास था,कि उनकी शिष्या कम से कम टॉप थ्री में जरूर शामिल होगी। अब 400 मीटर की रेस में उन्होंने अपनी ताकत का पूरी दुनिया में लोहा मनवाया है।

Hima Das Career(हिमा दास करियर)

  • Hima Das को बचपन से ही स्पोर्ट (sport ) की और मन था ट्रैक में आने से पहले, हिमा फुटबॉल में रुचि रखती थी और वह लड़कों के साथ फुटबॉल खेलती थी।
  • साल 2017 में हिमा की मुलाकात अपने कोच “निपुण दास” से खेल और युवा कल्याण निदेशालय की और से आयोजित किए गए इंटर-डिस्ट्रिक्ट meet के दौरान हुई थी.
  • निपुण दास हिमा को अपने गांव से 140 किमी दूर गुवाहाटी में स्थानांतरित करने के लिए दबाव डाला और उसे आश्वस्त किया कि उसके पास एथलेटिक्स में भविष्य है।
  •  शुरू में निपुण ने इन्हें 200 मीटर रेस के लिए तैयार किया था और जैसे जैसे इनका स्टैमिना बढ़ता गया, इन्होंने 200 मीटर की जगह 400 मीटर के ट्रेक पर दौड़ना शुरू कर दिया था.
  • Hima Das scripts history by winning 400m gold in World Jr Athletics Championship

18वे एशियाई खेलों में हिमा (Hima Das in Asian Games)

18 वर्षीय हिमा ने आईएएएफ विश्व अंडर-20 चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतकर इतिहास रचा था ! पूरे देश को एशियाई खेलों में भी उनसे स्वर्ण पदक की उम्मीद थी ! और वह इसकी दावेदार भी थीं.

लेकिन सेमीफाइनल में उनके फाउल होने के कारण भारत के पदक जीतने की उम्मीदों को झटका लगा. और हिमा को इस प्रतिस्पर्धा में रजत पदक के साथ संतोष करना पड़ा ! फाइनल रेस में उन्होंने 50.79 सेकेंड के समय निकाला. हिमा ने शानदार दौड़ लगाई.

अवार्ड्स और अचीवमेंट(Awards and Achievments )

  • हिमा दास ने आईएएएफ वर्ल्ड में अंडर 20 एथलीट चैंपियनशिप में 400 मीटर की रेस  46 सेकेंड में दौड़ कर जीत हासिल की और फिनलेंड के टामपेर में गोल्ड मैडल विजेता रही.
  • ये कॉमन वेल्थ गेम में 400 मीटर की रेस 32 सेकंड में पूरा कर के 6 वे नंबर पर रही . अभी हाल ही में इन्होंने भारत में गुवाहाटी में नेशनल इंटरस्टेट चैंपियनशिप में अंडर 20 वर्ग में गोल्ड मैडल जीता .

ताज़ा न्यूज़ (Latest News/Update)

Hima Das Biography in Hindi and latest news
Hima Das Latest news
  • हिमा दास ने पिछले 15 दिनों मैं 4 गोल्ड मैडल जीती है ! Hima ने चेक गणराज्य में हुए टाबोर ऐथलेटिक्स टूर्नमेंट में 200 मीटर स्पर्धा का स्वर्ण जीता। हिमा ने बुधवार को हुई रेस को 23.25 सेकेंड में पूरा करके सोना जीता। उन्होंने दो जुलाई को पोलैंड में हुई पहली रेस को 23.65 सेकेंड में जीता था। इससे पहले हिमा ने क्लांदो मेमोरियल ऐथलेटिक्स प्रतियोगिता में शनिवार को तीसरा गोल्ड जीता था। इससे पहले आठ जुलाई को वह पोलैंड में हुए कुंटो ऐथलेटिक्स टूर्नमेंट में 200 मीटर रेस में स्वर्ण पदक अपने नाम कर चुकी हैं।

 Likes And Dislikes (हिमा की पसंद और नापसंद)

खाना (Food)स्प्रिंग रोल
एक्टर (Actor)विक्की कौशल
एक्ट्रेस (Actress)अलिया भट्ट
एथलिट (Athlete)अश्विनी अक्कुंजी
फिल्म (Film)मोन जय , मिशन चाइना
रंग (Color)पिंक , ग्रीन
जगह (Destination)शिमला
फुटबॉल प्लेयर (Football Player)निकोल्स वेलेज़ (अर्जेन्टीना)
गायक (Singer)जुबीन गर्ग

गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ में हिमा को मिली थी निराशा:-

गौरतलब ​है कि बुधवार को हुए सेमीफाइनल मुकाबले में भी हिमा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 52.10 सेकंड का समय निकालकर पहला स्थान हासिल किया !पहले दौर की हिट में भी 52.25 सेंकेंड के समय के साथ वह पहले स्थान पर रहीं।

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने भी हिमा दास को उनकी कामयाबी के लिए बधाई दिए है !अप्रैल में Australia के गोल्ड कोस्ट में खेले गए कॉमनवेल्थ गेम्स की 400 मीटर स्पर्धा में हिमा दास छठे स्थान पर रही थीं।

इस टूर्नामेंट में उन्होंने 51.32 सेकेंड में दौड़ पूरी की थी ! इसी राष्ट्रमंडल खेलों की 4X400 मीटर स्पर्धा में उन्होंने सातवां स्थान हासिल किया था ! इसके अलावा हाल ही में गुवाहाटी में हुई अंतरराज्यीय चैंपियनशिप में उन्होंने गोल्ड मेडल अपने नाम किया था।

हिमा का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 100 मीटर में 11.74 सेकेंड, 200 मीटर में 23.10 सेकेंड, 400 मीटर में 51.13 सेकेंड और 4X400 मी. रिले में 3:33.61 सेंकेंड रहा है !

ऐतिहासिक है हिमा दास का यह स्वर्ण पदक:-

यह स्वर्ण पद इसलिए खास है ! क्योंकि भारत के एथलेटिक्स इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी ​खिलाड़ी ने आईएएएफ की ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल हासिल किया हो! उनसे पहले भारत का कोई भी स्प्रिंटर जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक नहीं जीत सके है।

हिमा दास ने 51.46 सेकेंड में 400 मीटर की स्प्रिंट पूरी कर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। रोमानिया की एंड्रिया मिकलोस को रजत और अमरीका की टेलर मैंसन को कांस्य पदक मिला। मजेदार बात यह है कि इस स्प्रिंट के 35वें सेकेंड तक हिमा दास शीर्ष तीन एथलीट्स में भी नहीं थीं, लेकिन आखिरी के 17 सेंकेंड्स में उन्होंने रफ्तार पकड़ी और इतिहास रच दिये ।

हिमा दास स्वर्ण पदक लेने के लिए जब पोडियम पर चढ़ीं और भारत का राष्ट्रगान बजने लगा तो उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े।

आल्सो रीड –

निवेदन – आपको Hima Das Biography in Hindi अच्छी तरह से आपको समझ में आ गया होगा! अगर आपका कोई सवाल हो तो आप हमें से पूछ सकते है! अगर यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा हो तो इसे फेसबुक तथा व्हाट्सप्प पर जरूर शेयर करे ! दी गई जानकारी में कुछ गलत लगे तो आप हमें comment तथा email के माध्यम से संपर्क कर सकते है !

हम इसे अपडेट करते रहेंगे अगर आपका कोई मनपसंद Biography या History के बारे में जानना है! तो आप हमें संपर्क कर सकते है! email या comment के माध्यम से और हमे subscribe करना न भूले ! जिससे हम आपके लिए एक और History या Biography जल्दी लेकर आयेगे!

थैंक्स फॉर रीडिंग 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *